Planets Name In Hindi : Solar System in Hindi (सौर मंडल के ग्रहों के नाम )

क्या आप ग्रहों के नाम (Planets Name In Hindi), ग्रहों के बारे में हिंदी में जानना चाहते हैं? अगर हां तो इस पोस्ट में हम सौर मंडल (Solar System) के बारे में चर्चा करेंगे। जैसे कि सौर मंडल क्या है ( Solar System in hindi ), सौर मंडल के कितने सदस्य (Parts Of Solar System In Hindiहैं, सूर्यमंडल सदस्यों के महत्वपूर्ण तथ्य और ग्रहों के नाम हिंदी में  (Planets Name In Hindi) तथा ग्रहों से सूर्य की दूरी इत्यादि को हम इस लेख में पढ़ेंगे।

Table of content



सौरमंडल (Solar system)

Planets Name In Hindi

सूर्य सौर मंडल का केंद्र है और धरती सहित बाकी ग्रह इसकी परिक्रमा करते हैं। सौर मंडल सूर्य का परिवार है। जिसमें सूर्य इस परिवार का मुखीया है और बाकी सब इसके सदस्य हैं। 
  
यह भी पढ़े-  Missing number reasoning in hindi

सौर मंडल क्या है? Solar system in hindi

विभिन्न ग्रहों, धूमकेतु, उल्काओं और अन्य आकाशीय पिंडों का समूह जो सूर्य के चारों ओर घूमता है, सौर मंडल कहलाता है।  इस समूह में सूर्य, ग्रह, उपग्रह, उल्कापिंड, क्षुद्रग्रह और धूमकेतु शामिल हैं।

 

सौर मंडल के सदस्य (Parts Of Solar System In Hindi)

  • सूर्य (Sun)
  • चंद्रमा (moon)

सूर्य ( Sun in Hindi )

सूर्य सौरमंडल का सबसे बड़ा सदस्य है। सूर्य की आयु लगभग 5 विलियन वर्ष है। यह अधिकांशतः हाइड्रोजन और हीलियम गैस से बना हुआ है।  जिस प्रकार पृथ्वी और अन्य ग्रह सूरज की परिक्रमा करते हैं उसी प्रकार सूरज भी आकाश गंगा के केन्द्र की परिक्रमा करता है और यह चक्कर सूर्य 225-250 मिलियन वर्ष में पूरा करता है।
 

सूर्य के महत्वपूर्ण तथ्य

  • सूर्य एक तारा हैं ।
  • सूर्य की पृथ्वी से न्यूनतम दूरी 14.70 करोड़ किमी है।
  • पृथ्वी से सूर्य की अधिकतम दूरी 15.21 करोड़ किमी है
  • सूर्य का व्यास लगभग 13,92,000 किमी है।
  • सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर आने में 8 मिनट 16.6 सेकेंड का समय लगता है।
  • सूर्य में लगभग हाइड्रोजन 71% हिलीयम 26.5% तथा अन्य तत्वों का 2.5% का रासायनिक मिश्रण होता हैं।
 

चंद्रमा (The moon in hindi)

वह विज्ञान जिसमे चंद्रमा का अध्ययन होता है उसे सेलेनोलॅाजी कहा जाता है। यह एक छोटा सा पिंड है जो आकार में पृथ्वी का एक चौथाई है। चंद्रमा पृथ्वी का 27 दिन 7 घंटे 43 मिनट 15 सेकंड में परिक्रमा करता है और एक ही समय में अपनी धुरी पर भी घूमता है, यही कारण है कि चंद्रमा का केवल एक हिस्सा पृथ्वी से दिखाई देता है।

चन्द्रमा के महत्वपूर्ण तथ्य

  • पृथ्वी से चंद्रमा की औसत दूरी 38465 किमी है।
  • चंद्रमा और पृथ्वी महीने में दो बार समकोण बनाते हैं
  • चंद्र ग्रहण हमेशा पूर्णिमा पर होता है जब पृथ्वी, सूर्य और चंद्रमा के बीच आती है।
  • इसकी सबसे ऊंची पर्वत चोटी का नाम लिबनिट्ज है, जो 35000 फीट (10668 मीटर) ऊंची है।
  • चंद्रमा का व्यास लगभग 3476 और त्रिज्या 1738 किमी है।
  • सूर्य के संबंध में चंद्रमा की कक्षीय अवधि को सायनोडिक महीना या चंद्र महीना कहा जाता है।
  • चंद्रमा को जीवाश्म ग्रह भी कहा जाता है।
  • चंद्रमा पर जुलाई 1969 में अपोलो-ll अंतरिक्ष यान से नील आर्मस्ट्रांग तथा एडविन आल्ड्रिन गए थे जिन्होंने पहली बार चंद्रमा की सतह पर कदम रखा।
  • 'सी आफ ट्रांक्वेलिटी नामक स्थान चंद्रमा पर है।
  • पृथ्वी पर जो वस्तु 60 किलोग्राम भार की हैं उसका वजन चंद्रमा पर  1/6 भाग ही रह जाता हैं ।
  • चंद्रमा पृथ्वी पर जीवन के लिए अहम भुमिका निभाता हैं जबकि चंद्रमा पर अपना वायुमंडल नहीं हैं ।
  • चंद्रमा के कारण ही पृथ्वी पर ज्वारभाटा आता है  ।
  • ज्वार के समय समुद्र का जल स्तर बढ़ जाता हैं ।

ग्रह किसे कहते है या ग्रह क्या है? ( What is planets)

ग्रह उन आकाशीय पिंड को कहा जाता है जो एक निश्चित पथ पर सूर्य के चारों ओर घूमते हैं। जैसे- पृथ्वी , बुध, शुक्र इत्यादि 

 सभी ग्रह सूर्य के पश्चिम से पूर्व की ओर परिक्रमा करते हैं, लेकिन शुक्र और अरुण इसके विपरीत पूर्व से पश्चिम की दिशा में परिक्रमा करते है।

हम यह जान चुके हैं की ग्रह किसे कहा जाता हैआगे अब हम ग्रहों के नाम hindi और english में जान लेते हैं

Planets Name In Hindi ( सौर मंडल के ग्रहों के नाम हिंदी में )

क्या आप सौरमंडल के ग्रहों के नाम हिंदी (planets name in hindi and english) में जानते हैं यहां पर सौर मंडल के सभी ग्रहों के नाम हिंदी में तथा अंग्रेजी में दिया गया है .  सौरमंडल में कुल 8 ग्रह है। ये सभी ग्रह सूर्य की परिक्रमा करते हैं। हमने नीचे उन सभी 8 ग्रहों के नाम की list दी है। 
 
Planets Name
( In English )
Planets Name
( In Hindi )
1. Mercury बुध
2. Venus शुक्र
3. Earth पृथ्वी
4. Mars मंगल
5. Jupiter बृहस्पति
6. Saturn शनि
7. Uranus अरुण
8. Neptune वरुण

● सूर्य से ग्रहों की दूरी बढ़ते क्रम में - बुध - शुक्र- पृथ्वी - मंगल - बृहस्पति - शनि - अरुण - वरुण। 
ग्रहों का आकार घटते क्रम में - बृहस्पति - शनि - अरुण - वरुण - पृथ्वी - शुक्र - मंगल - बुध।
 

अब आप सौरमंडल के 8 ग्रहों के नाम जान चुके हैं। तो चलिए अब सभी ग्रहों के बारे में एक-एक करके विस्तृत रूप से पढ़ते है।

सौर मंडल के ग्रह (Planets Of Solar System In Hindi)

वर्तमान में हमारे सौर मंडल में ग्रहों की संख्या 8 है। किन्तु पहले  हमारे सौरमंडल में ग्रहों की संख्या 9 हुआ करती थी। उस नौवें ग्रह का नाम यम था। लेकिन इस समय यम को बौने ग्रह की श्रेणी में रखा गया है। ग्रहों को दो भागों में बांटा गया है। 
1- आंतरिक ग्रह (Internal Planets ) 
2- बाहरी ग्रह (External Planets )  

इन ग्रहों को दो भागों में विभाजित करने का कारण क्षुद्रग्रह बेल्ट है।  यह चक्र मंगल और बृहस्पति के बीच है।  इनकी संख्या हजारों-लाखों में है।

तो चलिए सबसे पहले हम आंतरिक ग्रह ( Internal plants) के बारे में एक-एक करके जानते है।

आंतरिक ग्रह ( Internal Planets Name in hindi  )

आतंरिक ग्रह किसे कहते हैं?
सौर मंडल के चार छोटे आंतरिक ग्रह हैं बुध, शुक्र, पृथ्वी और मंगल, ये चार ग्रह ठोस रूप में पाए जाते हैं । इसलिए, इन्हें आंतरिक ग्रह कहा जाता है। जो मुख्य रूप से धातु और पत्थर से बने होते हैं। जिन्हें स्थलीय ग्रह भी कहा जाता है।

 

बुध ग्रह ( Mercury in hindi )

बुध ग्रह ( Mercury in hindi )

बुध ग्रह एक सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह और सूर्य के सबसे निकट का ग्रह है। यह सबसे तेज घूमता है और इसी कारण यह सूर्य का एक चक्कर 88 दिन में पूरा करता है। दोपहर के समय इस ग्रह का तापमान 400 डिग्री सेल्सिअस रहता है और रात के समय यह तापमान -170 डिग्री सेल्सिअस तक चला जाता है।

इसका कारण यह है कि बुध ग्रह पर कोई वातावरण नहीं है जो ताप को ग्रह पर रोक सके। जैसा की धरती पर होता है। इस ग्रह पर वायुमंडल नहीं है जिससे जीवन संभव नहीं है।
 

बुध ग्रह के महत्वपूर्ण तथ्य (Important facts of Mercury planet)

  • इसका कोई उपग्रह नहीं है
  • पृथ्वी से आकार में 18 गुना छोटा है।
  • पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल का 3/8 भाग बुध का गुरुत्वाकर्षण बल है।
  • बुध का तापांतर सर्वाधिक 560 सेंटिग्रेट है
  • इसका घूर्णन काल 58.6 दिन है।
  • मेरिनट- 10 बुध का कृत्रिम उपग्रह है।
  

शुक्र ग्रह हिंदी में ( Venus in hindi )

शुक्र ग्रह हिंदी में ( Venus in hindi )

शुक्र सौर मंडल का सबसे गरम ग्रह है। यहाँ का तापमान 475 ℃ रहता है। यह तापमान दिन और रात दोनों में एक जैसा रहता है। इसका कारण है कि यहाँ के वातावरण में 96 प्रतिशत कार्बन डाइऑक्साइड है। जोकि ताप को कैद कर लेती है, जैसा कि धरती पर ग्रीन हाउस का प्रभाव है। 

शुक्र ग्रह के महत्वपूर्ण तथ्य (Important facts of Venus planets)

  • सूर्य से इसकी दुरी  लगभग 10,80,00,000 करोड़ 10 लाख किलोमीटर है।
  • शुक्र का आकार और बनावट लगभग पृथ्वी के बराबर है। इसलिए शुक्र को पृथ्वी की बहन कहा जाता है। 
  • यह रात के आसमान में सबसे चमकदार ग्रह है और धरती से आसानी से पहचाना जा सकता है।
  • सौर मंडल में यह एकमात्र ग्रह है जो पूरब से पश्चिम की ओर घूमता है। 
  • विनस ग्रह एक ऐसा ग्रह है जिस पर लगभग 1000 से ज्यादा  ज्वालामुखी की खोज की है।

पृथ्वी ग्रह हिंदी में ( Earth in hindi )

पृथ्वी ग्रह हिंदी में ( Earth in hindi )

हम पृथ्वी (earth planets) के बारे में बहुत कुछ जानते हैं जो हमारा अपना घर है जिस पर हम रहते हैं। पृथ्वी सौरमंडल का एकमात्र ऐसा ग्रह है जहाँ जीवन का अस्तित्व है। अगर आप पृथ्वी की तस्वीर देखें तो आप पाएँगे कि इसमें तीन रंग नजर आएँगे :- नीला, सफ़ेद और हरा। ये नीला रंग महासागरों और सागरों का है। 

सफ़ेद रंग बादलों का और हरा रंग वनस्पति का है। धरती एक ऐसे वातावरण से घिरी हुयी है जिसमें नाइट्रोजन, ऑक्सीजन और जल वाष्प शामिल है। इसमें एक ओजोन परत भी है जो सूर्य से आने वाली हानिकारक किरणों को अपने अन्दर सोख लेती हैं। धरती पर जीवन का मुख्य कारण इस पर मौजूद पानी है।

 

मंगल ग्रह हिंदी में ( Mars in hindi )

मंगल ग्रह हिंदी में ( Mars in hindi )

मंगल ग्रह की दूरी सूर्य से लगभग 22 करोड 79 लाख किलोमीटर है। इस ग्रह का व्यास लगभग 6794 किलोमीटर है। मंगल ग्रह को “लाल ग्रह” ( Red Planet ) के नाम से भी जाना जाता है। इसका कारण है इसका रंग लाल होना। 

यह धरती से मिलता जुलता ग्रह है। मंगल पर, पृथ्वी की तरह बादल वाला वातावरण है। इसका वातावरण विरल है। सौरमंडल का सबसे अधिक ऊँचा पर्वत, ओलम्पस मोन्स ( Olympus Mons ) मंगल पर ही स्थित है। 

मंगल ग्रह के महत्वपूर्ण तथ्य (Important facts of Mars)

  • सौर मंडल के सभी ग्रहों में हमारी पृथ्वी के अलावा, मंगल ग्रह पर जीवन और पानी होने की संभावना सबसे अधिक है। 
  • मंगल के दो चन्द्रमा, फो़बोस और डिमोज़ ( Phobos and Deimos ) हैं।
  • इस ग्रह को पृथ्वी से नंगी आँखों से देखा जा सकता है।
  • मंगल ग्रह पर कुछ नदियां घाटियां और पठार भी है मंगल ग्रह पर एक ओलंपस मोंस पहाड़ी है जो माउंट एवरेस्ट से लगभग 3 गुना ऊंची है इस पहाड़ी की ऊंचाई लगभग 24 किमी है।  
  • मंगल का 1 दिन 24 घंटे से थोड़ा अधिक है।  
  • मंगल ग्रह पर एक वर्ष पृथ्वी के 687 दिनों के बराबर होता है।

 

बाहरी ग्रह ( External Planets name in hindi )

बाहरी ग्रह किसे कहते हैं?
यूरेनस, नेपच्यून के साथ वृहस्पति और शनि को एक गैसीय ग्रह के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इन चार ग्रहों को बाहरी ग्रहों के रूप में जाना जाता है।


बृहस्पति ग्रह हिंदी में (Jupiter in hindi )

बृहस्पति ग्रह हिंदी में (Jupiter in hindi )

बृहस्पति (jupiter planets) हमारे सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है।  बृहस्पति की खोज खगोलविदों ने 1610 में की थी, जो पृथ्वी से लगभग 3 गुना बड़ा है। जुपिटर का गुरुत्वाकर्षण बल बहुत ज्यादा है जिससे यह एस्ट्रोनॉट को अपनी ओर खींचता रहता है और पृथ्वी को एस्ट्रोनॉट से बचाता है।
यह सौर मंडल का शुक्र ग्रह के बाद कई बार यह ग्रह सबसे ज्यादा चमकता है। यह ग्रह सूर्य की भांति ही हाइड्रोजन और हीलियम से बना है। इसलिए इसे गैस दानव भी कहा जाता है। इसके तेज गति से घूमने के कारण यहाँ अक्सर तूफान आते रहते हैं। बृहस्पति के कम से कम 64 चन्द्रमा है। इसमें गैनिमीड ( Ganymede ) सबसे बड़ा चन्द्रमा है जिसका व्यास बुध ग्रह से भी ज्यादा है।

जुपिटर पर दिन और ग्रहों के मुकाबले छोटा होता है इसमें एक दिन केवल 9 घंटे 55 मिनट का होता है क्योंकि जुपिटर सूर्य के चारों ओर परिक्रमा इतने ही समय में कर लेता है और ग्रहों के मुकाबले सबसे तेज है इस ग्रह का आकार बड़ा होने के कारण यह सूर्य के चारों ओर तेजी से परिक्रमा कर लेता है कहा जाता है।
   

शनि ग्रह हिंदी में (Saturn in hindi) 

शनि ग्रह हिंदी में (Saturn in hindi)

शनि ग्रह बृहस्पति ग्रह के बाद सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह है । यह इसके छल्ले ( Ring ) के लिए जाना जाता है। अध्ययन बताते हैं कि शनि ग्रह के कई पतले छल्ले हैं जो बर्फ के कणों से बने हुए हैं। इसकी सूर्य से दूरी लगभग 143 करोड़ किलोमीटर है यह सौरमंडल का सबसे हल्का ग्रह है।  
 
यह इतना हल्का है कि पानी में रखने पर भी यह नहीं डूबेगा और यह बृहस्पति के बाद सबसे चमकीला ग्रह भी है।  यह ग्रह लगभग 96 प्रतिशत हाइड्रोजन पर 3% ही नियम और अन्य तत्वों जेसे मिथेन अमोनिया और फास्फीन से बना है शनि ग्रह के 62 उपग्रह (चंद्रमा) हैं। 
 

शनि ग्रह के महत्वपूर्ण तथ्य

  • यह चमकीला होने के कारण इसको पृथ्वी से में देखा जा सकता है ।
  • इनमें से सबसे बड़ा चंद्रमा टाइटन है, जो बृहस्पति के गैनीमेड के बाद दूसरा सबसे बड़ा उपग्रह है।
  • इसका भूमध्यरेखीय व्यास 1,20,536 किमी है और इसका औसत तापमान -139 ° C के आसपास है। 
  • शनी ग्रह सूर्य के चारों ओर 10 घंटे और 34 मिनट में अपनी कक्षा पूरी करता है। 
  • जो बृहस्पति ग्रह के बाद सबसे तेज है इसलिए शनि ग्रह पर केवल 10 घंटे और 34 मिनट का ही दिन होता है।

अरुण ग्रह हिंदी में (Uranus in hindi)

अरुण ग्रह हिंदी में (Uranus in hindi)

Uranus planets (अरुण ग्रह) सौरमंडल का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह है। जिसकी खोज 13 मार्च 1781 को विलियम हर्शेल ने की थी। और सूर्य से दूरी के अनुसार यह सातवां ग्रह है।  युरेनस ग्रह सूर्य से लगभग 29 करोड़ किलोमीटर दूर है और यह पृथ्वी से 63 गुना बड़ा और 15 गुना भारी है। 

यूरेनस के 27 उपग्रहों को ज्ञात किया गया है, जैसे एरियल मारिंडा आदि है। यूरेनस पर एक दिन 11 घंटे का होता है, इसे पृथ्वी से नग्न आंखों से नहीं देखा जा सकता है। कई बारी रात के समय साफ आसमान में इसको दूरबीन के द्वारा देखा जा सकता है। 

यह बृहस्पति और शनि ग्रह जैसा ही है परन्तु इसका तापमान बहुत ठंडा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह सूर्य से बहुत अधिक दूरी पर है।  इसके चारों ओर छल्ले हैं, जिनका रंग काला है।

 

वरुण ग्रह हिंदी में ( Neptune in hindi)

वरुण ग्रह हिंदी में ( Neptune in hindi)

वरुण ग्रह ( Neptune planets ) को ब्लू जायंट के नाम से भी जाना जाता है। यह पृथ्वी से बहुत दूर है,  इसलिए बहुत उच्च शक्ति वाले दूरबीनों से भी इसे बहुत मुश्किल से देखा जा सकता है। इस ग्रह के 11 चंद्रमा हैं। अरुण ग्रह की तरह इसके भी पतले छल्ले हैं।

यह सौर मंडल का चौथा सबसे बड़ा ग्रह है। यह सूर्य से पृथ्वी के मुकाबले तीस गुना अधिक दूर है। यूरेनस सबसे ठंडा ग्रह उसके बाद नेपच्यून ही ठंडा ग्रह है।  नेपच्यून सूर्य से सबसे ज्यादा दूर होने के कारण सबसे ठंडा ग्रह नहीं है क्योंकि नेपच्यून के अंदर कार्बन कार्बन डाइऑक्साइड की कुछ मात्रा  पाई जाती है ।

वह सूर्य किरणों को अवशोषित कर लेती है। बहुत ज्यादा दूर होने के कारण इसको पृथ्वी से नंगी आंखों से नहीं देखा जा सकता पर यह पृथ्वी से देखने पर एक तारे की तरह दिखाई देता है। टिमटिमाता हुआ इसका गुरुत्वाकर्षण बल पृथ्वी के समान है।

बताया जाता है कि नेपच्यून के ऊपर हवाएं बहुत तेज चलती है , इन हवाओं की रफ्तार लगभग 2100 किलोमीटर प्रति घंटे से अधिक होती है यह पृथ्वी के मुकाबले बहुत ज्यादा है।

 

क्षुद्रग्रह के बारे में ( Asteroid in hindi )

क्षुद्रग्रह बेल्ट मंगल और बृहस्पति के बीच स्थित कई छोटी चट्टानों से बना है। वे सूर्य की परिक्रमा भी करते हैं। सीरीस ( Ceres ) क्षुद्रग्रह सबसे बड़ा क्षुद्रग्रह है।

 

उल्का और उल्कापिंड (Meteors and Meteorites)

उल्का चट्टानों या धातु के छोटे टुकड़े होते हैं। जब क्षुद्रग्रह टूटते हैं तो उल्का बन जाते हैं। यह उल्का जब रफ़्तार से यात्रा करते हैं तो इनमें हवा के घर्षण से आग लग जाती है और तब ये उल्का से उल्कापिंड बन जाते हैं। कई लोग इस गिरते हुए जलते उल्कापिंड को टूटता हुआ तारा कहते हैं। बड़े उल्कापिंड बहुत नुक्सान पहुंचा सकते हैं।

सौर मंडल के अन्य छोटे पिंडो के विपरित धूमकेतुओ को प्राचिन काल से जाना जाता रहा है। चीनी सभ्यता मे हेली के धूमकेतु को 240 ईसापूर्व देखे जाने के प्रमाण है। इंग्लैड मे नारमन आक्रमण के समय 1066 मे भी हेली का धूमकेतु देखा गया था।

1995 तक, 878 धूमकेतु को सारणीबद्ध किया गया था और उनकी कक्षाओं की गणना की गई थी। इनमें से, 184 धूमकेतु की घूर्णन अवधि 200 वर्ष से कम हैशेष धूमकेतुओ के परिक्रमा काल की सही गणना पर्याप्त जानकारी के अभाव मे नही की जा सकी है।

सबसे प्रसिद्ध धूमकेतु हैली का धूमकेतु है।  1994 में, शुमेकर लेवी का धूमकेतु समाचार में था जब यह टुकड़ों में टूट गया और बृहस्पति से जाकर टकराया था।

उल्कापिंड तब होता है जब पृथ्वी धूमकेतु की कक्षा से गुजरती है। कुछ उल्का वर्षा नियमित अंतराल पर होती हैं जैसे कि पेरिडिड उल्का, जो हर साल 9 अगस्त से 13 अगस्त के बीच होती है। 

जब पृथ्वी स्विफ्ट टटल धूमकेतु की कक्षा से गुजरती है। हेली का धूमकेतु अक्टूबर मे होनेवाले ओरीयानाइड उल्कापात के लिये जिम्मेदार है।

काफी सारे धूमकेतु शौकिया खगोलशास्त्रीयो ने खोजे है क्योंकि ये सूर्य के समिप आने पर आकाश मे सबसे ज्यादा चमकिले पिंडो मे होते हैं।

 

बौना ग्रह के नाम  ( Dwarf Planets name in hindi )

क्या आप जानते है कि हमारे सौरमंडल में कितने बौने ग्रह हैं?
जानकारी के लिए हम बता दे कि हमारे सौरमण्डल में पाँच ज्ञात बौने ग्रह है। इनके नाम निम्नलिखित हैं।
  1. यम ( Pluto )
  2. सीरीस ( Ceres )
  3. हउमेया ( Haumea )
  4. माकेमाके ( Makemake )
  5. ऍरिस ( Eris )

note - यम को पहेल ग्रह ही माना जाता था परन्तु 2006 में इसे बौने ग्रह के रूप में स्वीकार किया गया।

 


सूर्य से ग्रहों की दूरी [FAQ]

  • Q. बुध ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर - सूर्य से बुध ग्रह की दूरी 57.91 मिलियन किलोमीटर है।
  • Q. शुक्र ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर-  सूर्य से शुक ग्रह की दूरी 10,80,00,000 किमी; (6,70,00,000 मील) है।
  • Q. पृथ्वी ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर- सूर्य से पृथ्वी की औसत दूरी लगभग 14 करोड़ 96 लाख किलोमीटर है।
  • Q. मंगल ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर- सूर्य से मंगल की औसत दूरी लगभग 23 करोड़ कि॰मी॰ है।
  • Q. वृहस्पति ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर- सूर्य से बृहस्पति की औसत दूरी 77 करोड़ 80 लाख किमी (5.2 खगोलीय इकाई) है।
  • Q. शनि ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर- सूर्य से शनि के बीच की औसत दूरी 1.4 अरब किलोमीटर से अधिक है। 
  • Q. अरुण ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर- सूर्य से अरुण की औसत दूरी लगभग 3 अरब कि॰मी॰ है। 
  • Q. वरु ग्रह से सूर्य की दूरी?
  • उत्तर- सूर्य से वरुण की औसत दूरी 4.50 अरब किमी है।


प्रश्न - क्या धरती का तापमान बढ़ता जा रहा है ?

हां, धरती का तापमान बढ़ रहा है। इसका कारण ग्रीनहाउस प्रभाव है।  वाहनों और उद्योग से निकलने वाला हर दिन का धुआं ओजोन परत को नष्ट कर रहा है। जिससे सूरज से आने वाला प्रकाश धरती तक बिना फ़िल्टर के आता है और सूर्य की पैरा बैंगनी किरणे धरती का तापमान बढ़ा रही है और इससे ध्रुव पर जमी बर्फ पिघल रही है और महासागरों का जल स्तर बदल रहा है । इस प्रकार वायुमंडल बदल रहा है और धरती का तापमान भी बढ़ रहा है ।

प्रश्न - धरती के लिए चंद्रमा क्यों आवश्यक है ?

चंद्रमा नहीं होता तो पृथ्वी पर एक दिन 24 घंटे का न होकर लगभग 6 घंटे का एक दिन होता । क्योंकि चंद्रमा, पृथ्वी के घुमने की रफ़्तार को गुरुत्वाकर्षण बल के कारण कम करता हैंं।
 

 मैं उम्मीद करता हूँ कि आप solar system , planets of solar system, planets name in hindi के साथ बौने ग्रहों के बारे में भी समझ गए होंगे। अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ share करें। आप अपने सवालों और सुझावों को comment करके हमे बता सकते हैं।

इसी प्रकार के Hindi Gk, Study Material, Pdf notes तथा और अन्य प्रकार के देश-विदेश से जुड़ी खबरों और महत्वपूर्ण टॉपिक तथा उनसे जुड़े प्रश्न-उत्तर के लिए हमारे Telegram Channel को Join कीजिये।

You may like these posts

Join Telegram for more updates click here