गुड़हल का वैज्ञानिक नाम क्या है? | Gudhal ka Vaigyanik Naam

गुड़हल का वैज्ञानिक नाम : हेलो दोस्तों आज हम ऐसे फूल के बारे में जानेंगे जो भारतीय मान्यताओं के अनुसार पूजन के लिए किया जाता है।  साथ ही इसे सामान्य उपयोग और औषधीय उपयोग के लिए भी प्रयोग किया जाता है उस फूल को गुड़हल का फूल कहते हैं।

Hibiscus plant in hindi : इस लेख में हम जानेंगे कि गुड़हल का वैज्ञानिक नाम क्या होता है, गुड़हल (Hibiscus) की कुल कितनी प्रजातियां पाई जाती हैं, गुड़हल का सामान्य रूप से और औषधीय रूप से किस प्रकार उपयोग किया जाता है, गुड़हल के फूल के फायदे क्या क्या है तथा गुड़हल के फूल को संस्कृत में क्या कहते हैं।

गुड़हल का वैज्ञानिक नाम
गुड़हल का वैज्ञानिक नाम

Gudhal ka Vaigyanik Naam: Gudhal ke Phool को जपाकुसुम के नाम से भी जाना जाता है। इसे गुड़हल का दूसरा नाम कहते हैं। यह बहुत सुंदर होता है। गुड़हल (Hibiscus) में बहुत से औषधीय गुण पाए जाते हैं। इसलिए यह बहुत ही उपयोगी है। 

तो आज की इस लेख में हम गुड़हल के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी को विस्तृत रूप से पढेंगे। चलिए सबसे पहले हम यह जान लेते हैं कि Gudhal Scientific Name क्या है?


गुड़हल का वैज्ञानिक नाम क्या है |  Gudhal ka vaigyanik naam kya hota hai

गुड़हल का वैज्ञानिक वानस्पतिक नाम 'हिबिस्कुस रोजा सइनेंसिस' है। बहुत लोग Gudhal ka Vaigyanik Naam  हिबिस्कुस बताते है लेकिन यह इसका वंश का नाम होता है। गुड़हल मालवेसी परिवार (family) का फूल है। यह गर्म प्रदेशों में पाया जाता है। गुड़हल का फूल मलेशिया तथा दक्षिण कोरिया का राष्ट्रीय पुष्प भी है। इनके गुड़हल के वृक्षों की लगभग 200-220 प्रजातियां पाई जाती हैं। इनमें से कुछ प्रमुख प्रजातियां निम्नलिखित हैं।

Name Gudhal
English Name Hibiscus
Vaigyanik Name हिबिस्कुस रोजा सइनेंसिस
Faimly मालवेसी 

Hibiscus Flower Information in Hindi | Hibiscus in Hindi

गुड़हल का वैज्ञानिक नाम जान गए होंगे चलिए अब हम इससे संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी पढ़ लेते हैं

  • गुड़हल का फूल सुंदरता के लिए उगाया जाता है। 
  • इसकी पत्तियों के किनारे दंतीय होते हैं। 
  • गुड़हल के फूल में 5 या अधिक पंखुड़ियां होती हैं।
  • फूल बड़े और आकर्षक होते हैं।
  • इनके फूलों का रंग सफेद गुलाबी लाल पीला या बैंगनी रंग का भी होता है।
  • इस पर फूल गर्मी के दिनों में खिलते हैं। 


गुड़हल के फूल के फायदे | Gudhal ke phool ke fayde

गुड़हल के बहुत फायदे है जो फायदे निम्न्लिखित है। 

  • गुड़हल से चाय भी बनाई जाती है या सेहत के लिए अच्छी मानी जाती है। 
  • गुलाल की एक अन्य प्रजाति रोजा एल का प्रयोग कैरेबियाई देशों में सब्जी चाय और जैम बनाने में किया जाता है।
  • गुड़हल के फूल में कैरोटीन पाया जाता है जो बाल झड़ने और रूसी की समस्या से निपटने के लिए गुड़हल के फूलों और पत्तियों को पीसकर उनका लेप सर पर लगाया जाता है।
  • इनके पत्तियों को चबाने से मुंह में हुए छाले ठीक हो जाते हैं।
  • गुड़हल का फूल हाई ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित करता है और ह्रदय से संबंधित रोग से बचाता है।


गुड़हल के औषधीय गुण | Hibiscus Hindi

  • आयुर्वेद के अनुसार सफेद गुड़हल के जड़ों को पीसकर कई प्रकार की दवाइयां बनाई जाती हैं।
  • इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखते हैं।
  • कुछ अनुसंधानकर्ताओ का कहना है कि गुड़हल के फूल का अर्क उतना ही फायदेमंद है जितना रेड वाइन और चाय।

Gudhal Flower for Hair in Hindi

दक्षिण भारत के मूल निवासी बालों की देखभाल के लिए गुड़हल के फूलों का उपयोग करते हैं। इसके फूल और पत्तियों को पीसकर इसका लेप सिर पर लगाने से बाल झड़ना और रूसी की समस्या दूर हो जाती है। इसका उपयोग बालों का तेल (केश तेल) बनाने के लिए भी किया जाता है।


 गुड़हल का फूल से सम्बन्धित प्रश्न [FAQ]

Q. गुड़हल के फूल का दूसरा नाम क्या है?
Ans. गुड़हल का दूसरा नाम जपाकुसुम है।

Q. गुड़हल कौन सी फैमिली का फूल है?
Ans. गुड़हल मालवेसी परिवार (family) का फूल है।

Q. गुड़हल फूल को संस्कृत में क्या कहते हैं?
Ans. गुड़हल के फूल को संस्कृत में जपपुशम् कहते हैं।


निष्कर्ष 
हमें उम्मीद है कि आप गुड़हल का वैज्ञानिक नाम तथा इससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा सहायक सिद्ध हुआ होगा। यदि आपको किसी प्रकार का सवाल है तो आप अवश्य कमेंट करें और अपने दोस्तों के साथ शेयर करें।

You may like these posts

Join Telegram for more updates click here