गाय का वैज्ञानिक नाम (Gay Ja Vaigyanik Naam): Information Of Cow In Hindi

 गाय वैज्ञानिक नाम: जय हिंद! गाय एक पालतू जानवर है जो संसार में लगभग सभी जगह पाई जाती है लेकिन क्या आपको पता है कि गाय का वैज्ञानिक नाम क्या है और इससे गौ माता क्यों कहा जाता है। अगर नहीं तो इस लेख में हम गाय के बारे में हिंदी में (about cow in hindi) जानेंगे।

यह भी पढ़े- मेढ़क का वैज्ञानिक नाम

इस लेख में हम गाय पर निबंध 10 लाइन (essay on cow in hindi), sahiwal cow in hindi, गाय की नस्ल, information of cow in hindi, desi gay, gau mata इत्यादि विषयों पर चर्चा करेंगे।

Table of content


गाय का वैज्ञानिक नाम (Gay Ka Vaigyanik Naam)

गाय का वैज्ञानिक नाम - Boss indicus है। गाय का द्विपद नाम बोस टौरस (Bos taurus) है। यह एक सीधा-साधा जानवर है।

गाय का वैज्ञानिक नाम (Gay Ka Vaigyanik Naam)

गाय की नस्ल ( Cow Ki Nasal)

भारत मे गाय की 28 से अधिक नस्लें पाई जाती हैं। धार्मिक दृष्टिकोण को छोड़कर गायों की कुछ ही नस्लें ऐसे हैं जिनको पालना आर्थिक रूप से हितकर है इन नस्लों को तीन वर्गों में बांटा जा सकता है।
A. दुधारू नस्ले: जैसे- साहीवाल, सिंधी, गिर तथा देवनी।
B. दुकाजी नस्लें: जैसे- हरियाणा, थारपारकर, कांकरेज, राठी आदि।
C. भारवाही नस्लें: जैसे- नागौरी, खैरीगढ़, कैनकथा, गंगातीरी आदि।

साहीवाल गाय हिंदी में (Sahiwal Cow In Hindi)

साहिवाल गाय के सामान्य लक्षण: इस नस्ल के अधिकांश पशु लाली लिए हुए हल्के पीले रंग के होते हैं और कुछ पशु सफेदी लिए हुए परंतु अधिकांश पशु गहरे लाल रंग के होते हैं । कुछ पशु सफेदी लिए हुए गहरे भूरे या लगभग काले रंग के भी मिल जाते हैं। इस नस्ल के पशुओं का शरीर सममित होता है। 

यह पशु साधारण लंबे और ढीले ढाले मांसल वह चिकने शरीर के होते हैं। इनकी गर्दन पतली व लंबी, छाती चौड़ी व गहरी, गलकंबल बढ़ा व लटकता हुआ, सिंग छोटे और पूंछ लंबी तथा अयन काफी विकसित और बड़ा होता है। यह शांत स्वभाव के होते हैं नर पशुओं में ककुद बहुत भारी पाई जाती है।

यह भी पढ़े - वीर का विलोम शब्द

जर्सी गाय की जानकारी (Information Of Cow In Hindi)

जर्सी गाय की नस्ल के पशु दूध भी अधिक देते हैं और दूध में वसा की मात्रा भी अधिक होती है यह गाय इंग्लिश चैनल के जर्सी नामक द्वीप में विशेष रूप से पाए जाते हैं जो ब्रिटेन के पास है।


सामान्य विवरण
जर्सी गाय के पशुओं का शरीर मध्यम आकार का तथा इनका का पिछला भाग भारी होता है जिनकी गर्दन पतली और छोटी होती है। कमर सीधी परंतु पीठ का पृष्ठ भाग कुछ ऊपर से उठा हुआ होता है । इनके कान व सिंग छोटे था पूछ लंबी होती है। 

इनका रंग हल्का पीला व सफेद रंग के चीते हो सकते हैं। जर्सी नस्ल के पशु 2 से 2.5 वर्ष की आयु में दूध देने लगते हैं। एक ब्यात में लगभग 3500 लीटर दूध दे देते हैं । इनके दूध में वसा की मात्रा 5.3% होती है।

यह भी पढ़े- इंसान का वैज्ञानिक नाम

देशी गाय (Gay Desi) पर निबंध 10 लाइन (Essay On Cow In Hindi)

प्रायः यह हम सभी लोगों के साथ होता है कि स्कूल में हमें गाय का निबंध हिंदी में 10 लाइन (cow essay in hindi) लिखकर लाने के लिए बोला जाता है इसलिए हम आपके लिए गाय पर निबंध 10 लाइन (essay on cow in hindi) बताने वाला हूँ।

गाय पर निबंध ( Essay On Cow in Hindi )

  • गाय एक बहुत ही उपयोगी पालतू जानवर है।  यह घर में लोगों द्वारा कई उद्देश्यों के लिए एक सफल घरेलू जानवर है।  
  • गाय चार पैरों वाला मादा पशु है जिसके शरीर में दो सींग, दो आंखें, दो कान, एक नाक, एक मुंह, एक सिर, एक बड़ी पीठ और एक पेट होता है।  
  • गाय एक समय में बड़ी मात्रा में भोजन खाती है।  वह हमें स्वस्थ और मजबूत बनाने के लिए दूध देती है।  
  • यह हमारी प्रतिरक्षा शक्ति को बढ़ाकर हमें बीमारियों और संक्रमणों से दूर रखता है।  
  • गाय एक पवित्र जानवर है और भारत में एक देवी की तरह पूजा जाता है।  उन्हें हिंदू समाज में माँ का दर्जा दिया गया है और उन्हें "गौ माता" कहा जाता है।
  • गाय का दूध बहुत प्रसिद्ध दूध है जो पशु को कई उद्देश्यों के लिए उपयोगी बनाता है।  
  • हिंदू धर्म में, यह माना जाता है क्योंकि गाय दान दुनिया में सबसे बड़ा दान है। 
  • गाय हिंदुओं के लिए एक पवित्र जानवर है।  गाय अपने जीवन के माध्यम से और अपनी मृत्यु के बाद भी हमें बहुत लाभ देती है।  
  • गाय हमें दूध, बछड़ा (या तो मादा गाय या नर गाय बैल), सह-गोबर, गाय-मूट और जीवित, और मृत्यु के बाद चमड़े और मजबूत हड्डियों के बहुत सारे देता है।  तो, हम कह सकते हैं कि उनका पूरा शरीर हमारे लिए उपयोगी है।
  • हम घी, मलाई, मक्खन, दही, दही, मट्ठा, गाढ़ा दूध, विभिन्न प्रकार की मिठाइयाँ आदि द्वारा दिए गए दूध से कई उत्पाद प्राप्त कर सकते हैं। 
  • किसानों के लिए प्राकृतिक खाद बनाने के लिए उनका सह-गोबर और मूत्र बहुत उपयोगी है।  पौधों, पेड़ों, फसलों आदि के लिए।
  • गाय हरी घास, खाद्य पदार्थ, अनाज, घास और अन्य खाद्य पदार्थ खाती है।  
  • गाय अपने बच्चे को बचाने के लिए रक्षा अंग के रूप में लोगों पर हमला करने के लिए मजबूत और तंग सींगों की एक जोड़ी का उपयोग करती है।  
  • गाय कभी-कभी अपनी पूंछ का इस्तेमाल हमले के लिए भी करती है।  उनकी पूंछ के सिरे पर लंबे बाल हैं।  
  • उसके शरीर पर छोटे बाल भी हैं और मक्खियों को डराने के लिए उनका उपयोग करता है।  उन्होंने कई वर्षों तक मानव जीवन में बेहद मदद की है।
  • गाय हजारों वर्षों से हमारे स्वस्थ जीवन का कारण है।  मानव जीवन का पोषण करने के लिए पृथ्वी पर गाय की उत्पत्ति के पीछे एक महान इतिहास है।  
  • हम सभी को अपने जीवन में उसके महत्व और आवश्यकता को जानना चाहिए और उसका हमेशा सम्मान करना चाहिए।  हमें गायों को कभी नुकसान नहीं पहुंचाना चाहिए और उन्हें समय पर उचित भोजन और पानी देना चाहिए।  
  • गाय अपने रंग, आकार और आकार में क्षेत्र से क्षेत्र में बदलती है।  कुछ गाय छोटे, बड़े, सफेद, काले और कुछ मिश्रित रंग के होते हैं।
यह भी पढ़े - 50 विलोम शब्द

देशी गाय के सामान्य लक्षण:

  • देशी गाय की पीठ थोड़ी घुमावदार होती है।
  • शरीर का पिछला भाग विदेशी गाय के अपेक्षा हल्का का होता है ।
  • इनमें कुकुद(hump) विकसित होता है।
  • इनकी ऊंचाई अधिक होती है।
  • इनके शरीर का आकार छोटा होता है।
  • दूध की औसत मात्रा 5 से 8 लीटर प्रतिदिन होती है।
  • दूध में चिकनाई की मात्रा 4 से 5% होती है।
  • इनके शरीर में पसीने की ग्रंथियां अधिक होती हैं जिससे गर्मी अधिक सहन कर सकती हैं।
  • देशी गाय का अयन कम विकसित होता है तथा चारा खाने की क्षमता कम होती है।
  • इनके शरीर का भार कम होता है और इनमें बीमारी प्रतियोगिता अधिक होती है


भारत में लोग गाय को Gau Mata क्यो कहते हैं?

भारत में धार्मिक नेता के अनुसार गाय में 33 करोड़ देवता वास करते हैं इसलिए जो लोग गाय की सेवा करते हैं उसे 33 करोड़ देवी देवता प्रसन्न होते हैं। गाय का संबंध विभिन्न देवी-देवताओं से है जैसे बैल भगवान शंकर का सवारी है उसी प्रकार इंद्र की कामधेनु गाय जो लोगों की मनोकामना पूरी करती है।
जिस घर में गाय का पूजा होता है घर में समस्याएं नहीं आते हैं ऐसा माना जाता है। हिंदू धर्म में लोग गाय की पूजा करते हैं और भारतीय संस्कृति के अनुसार गाय को मां के समान सम्मान किया जाता है इसलिए गाय को गौ माता (Gau Mata) कहते हैं।


गाय से सम्बंधित महत्वपूर्ण प्रश्न [FAQ]

Q. गाय कितने दिन में बच्चा देती है।
उत्तर- गाय 9 महीने 9 दिन में बच्चा देती है।

Q. गाय का वैज्ञानिक नाम क्या है।
उत्तरगाय का वैज्ञानिक नाम - Boss indicus है।

यह भी पढ़े- शेर का वैज्ञानिक ना

मैं उम्मीद करता हूँ कि आप गाय का वैज्ञानिक नाम (Gay Ja Vaigyanik Naam) जान गए होंगे साथ ही गाय के बारे में अन्य महत्वपूर्ण जानकारी भी आप समझ गए होंगे। अगर आपको यह लेख अच्छा लगा तो अपने दोस्तों के साथ share करें। अपने सुझाव और सवाल comment करके हमसे पूछ सकते हैं।

आप हमसे Social media व Telegram पर जुड़ सकते है। और अपने प्रश्नो को भी पूछ सकते हैं। 

इसी प्रकार के Hindi Gk, Study Material, Pdf notes तथा और अन्य प्रकार के देश-विदेश से जुड़ी खबरों और महत्वपूर्ण टॉपिक तथा उनसे जुड़े प्रश्न-उत्तर के लिए हमारे Telegram Channel को Join कीजिये।

You may like these posts

Join Telegram for more updates click here